Birthastro Menu

January, 2023 भद्रा दिनांक और समय

2021 भद्रा ( विष्टि करण )

  • Date Of Birth 11/5/2021

  • Place

  • Location

भद्रा ( विष्टि करण )2021

हिंदू शास्त्र के अनुसार आपको किसी भी कार्य की शुरुआत और अंत करने के पहले भद्रा योग का विशेष ध्यान रखना चाहिए। वह कार्य जो भद्रा योग में शुरु और खत्म होता है वह अशुभ होता है। आपको भद्रा काल में अपने महत्वपूर्ण कार्य नहीं शुरू करने चाहिए। हिंदू धर्म मान्याताओं के अनुसार भद्रा भगवान सूर्य और माता छाया की पुत्री थी तथा शनि की बहन थीं। भविष्यपुराण में कहा गया है कि भद्रा का प्राकृतिक स्वरूप अत्यंत भयानक है इनके उग्र स्वभाव को नियंत्रण करने के लिए ब्रह्मा जी ने इन्हें कालगणना का एक महत्वपूर्ण स्थान दिया ।

कहा जाता है कि ब्रह्मा जी ने ही भद्रा को यह वरदान दिया कि जो भी व्यक्ति उनके समय में कोई शुभ कार्य करेगा, उस व्यक्ति को भद्रा अवश्य परेशान करेगी। इसलिए ज्योतिष में भद्रा काल के दौरान शुभ कार्य करने की मनाही होती है। देखा जाता है कि इस काल में प्रारंभ किया गया कार्य या तो देर से होता है या पूरा नहीं होता है ।


आरम्भ समाप्त
दिनांक दिन समय दिनांक दिन समय
भद्रा ( विष्टि करण ) जनवरी 2021
2 जनवरी
2021
सोमवार 07:43 AM2 जनवरी
2021
सोमवार 08:23 PM
6 जनवरी
2021
शुक्रवार 02:14 AM6 जनवरी
2021
शुक्रवार 03:24 PM
9 जनवरी
2021
सोमवार 10:54 PM10 जनवरी
2021
मंगलवार 12:09 PM
13 जनवरी
2021
शुक्रवार 06:17 PM14 जनवरी
2021
शनिवार 06:54 AM
17 जनवरी
2021
मंगलवार 06:49 AM17 जनवरी
2021
मंगलवार 06:05 PM
20 जनवरी
2021
शुक्रवार 09:59 AM20 जनवरी
2021
शुक्रवार 08:10 PM
25 जनवरी
2021
बुधवार 01:53 AM25 जनवरी
2021
बुधवार 12:34 PM
28 जनवरी
2021
शनिवार 08:43 AM28 जनवरी
2021
शनिवार 08:48 PM
2 जनवरी
2021
सोमवार 07:43 AM2 जनवरी
2021
सोमवार 08:23 PM
6 जनवरी
2021
शुक्रवार 02:14 AM6 जनवरी
2021
शुक्रवार 03:24 PM
9 जनवरी
2021
सोमवार 10:54 PM10 जनवरी
2021
मंगलवार 12:09 PM
13 जनवरी
2021
शुक्रवार 06:17 PM14 जनवरी
2021
शनिवार 06:54 AM
17 जनवरी
2021
मंगलवार 06:49 AM17 जनवरी
2021
मंगलवार 06:05 PM
20 जनवरी
2021
शुक्रवार 09:59 AM20 जनवरी
2021
शुक्रवार 08:10 PM
25 जनवरी
2021
बुधवार 01:53 AM25 जनवरी
2021
बुधवार 12:34 PM
28 जनवरी
2021
शनिवार 08:43 AM28 जनवरी
2021
शनिवार 08:48 PM
आरम्भ समाप्त
दिनांक दिन समय दिनांक दिन समय
भद्रा ( विष्टि करण ) फ़रवरी 2021
1 फ़रवरी
2021
बुधवार 12:55 AM1 फ़रवरी
2021
बुधवार 02:01 PM
4 फ़रवरी
2021
शनिवार 09:29 PM5 फ़रवरी
2021
रविवार 10:44 AM
8 फ़रवरी
2021
बुधवार 05:27 PM9 फ़रवरी
2021
गुरूवार 06:23 AM
12 फ़रवरी
2021
रविवार 09:45 AM12 फ़रवरी
2021
रविवार 09:50 PM
15 फ़रवरी
2021
बुधवार 06:41 PM16 फ़रवरी
2021
गुरूवार 05:32 AM
18 फ़रवरी
2021
शनिवार 08:02 PM19 फ़रवरी
2021
रविवार 06:10 AM
23 फ़रवरी
2021
गुरूवार 02:23 PM24 फ़रवरी
2021
शुक्रवार 01:33 AM
27 फ़रवरी
2021
सोमवार 12:58 AM27 फ़रवरी
2021
सोमवार 01:35 PM
1 फ़रवरी
2021
बुधवार 12:55 AM1 फ़रवरी
2021
बुधवार 02:01 PM
4 फ़रवरी
2021
शनिवार 09:29 PM5 फ़रवरी
2021
रविवार 10:44 AM
8 फ़रवरी
2021
बुधवार 05:27 PM9 फ़रवरी
2021
गुरूवार 06:23 AM
12 फ़रवरी
2021
रविवार 09:45 AM12 फ़रवरी
2021
रविवार 09:50 PM
15 फ़रवरी
2021
बुधवार 06:41 PM16 फ़रवरी
2021
गुरूवार 05:32 AM
18 फ़रवरी
2021
शनिवार 08:02 PM19 फ़रवरी
2021
रविवार 06:10 AM
23 फ़रवरी
2021
गुरूवार 02:23 PM24 फ़रवरी
2021
शुक्रवार 01:33 AM
27 फ़रवरी
2021
सोमवार 12:58 AM27 फ़रवरी
2021
सोमवार 01:35 PM
आरम्भ समाप्त
दिनांक दिन समय दिनांक दिन समय
भद्रा ( विष्टि करण ) मार्च 2021
2 मार्च
2021
गुरूवार 07:54 PM3 मार्च
2021
शुक्रवार 09:11 AM
6 मार्च
2021
सोमवार 04:17 PM7 मार्च
2021
मंगलवार 05:15 AM
10 मार्च
2021
शुक्रवार 09:21 AM10 मार्च
2021
शुक्रवार 09:42 PM
13 मार्च
2021
सोमवार 09:27 PM14 मार्च
2021
मंगलवार 08:58 AM
17 मार्च
2021
शुक्रवार 03:26 AM17 मार्च
2021
शुक्रवार 02:06 PM
20 मार्च
2021
सोमवार 04:55 AM20 मार्च
2021
सोमवार 03:20 PM
25 मार्च
2021
शनिवार 04:35 AM25 मार्च
2021
शनिवार 04:23 PM
28 मार्च
2021
मंगलवार 07:02 PM29 मार्च
2021
बुधवार 08:01 AM
2 मार्च
2021
गुरूवार 07:54 PM3 मार्च
2021
शुक्रवार 09:11 AM
6 मार्च
2021
सोमवार 04:17 PM7 मार्च
2021
मंगलवार 05:15 AM
10 मार्च
2021
शुक्रवार 09:21 AM10 मार्च
2021
शुक्रवार 09:42 PM
13 मार्च
2021
सोमवार 09:27 PM14 मार्च
2021
मंगलवार 08:58 AM
17 मार्च
2021
शुक्रवार 03:26 AM17 मार्च
2021
शुक्रवार 02:06 PM
20 मार्च
2021
सोमवार 04:55 AM20 मार्च
2021
सोमवार 03:20 PM
25 मार्च
2021
शनिवार 04:35 AM25 मार्च
2021
शनिवार 04:23 PM
28 मार्च
2021
मंगलवार 07:02 PM29 मार्च
2021
बुधवार 08:01 AM
आरम्भ समाप्त
दिनांक दिन समय दिनांक दिन समय
भद्रा ( विष्टि करण ) अप्रैल 2021
1 अप्रैल
2021
शनिवार 03:10 PM2 अप्रैल
2021
रविवार 04:19 AM
5 अप्रैल
2021
बुधवार 09:19 AM5 अप्रैल
2021
बुधवार 09:45 PM
8 अप्रैल
2021
शनिवार 09:56 PM9 अप्रैल
2021
रविवार 09:35 AM
12 अप्रैल
2021
बुधवार 05:39 AM12 अप्रैल
2021
बुधवार 04:43 PM
15 अप्रैल
2021
शनिवार 09:59 AM15 अप्रैल
2021
शनिवार 08:45 PM
18 अप्रैल
2021
मंगलवार 01:27 PM19 अप्रैल
2021
बुधवार 12:23 AM
23 अप्रैल
2021
रविवार 08:01 PM24 अप्रैल
2021
सोमवार 08:24 AM
27 अप्रैल
2021
गुरूवार 01:38 PM28 अप्रैल
2021
शुक्रवार 02:49 AM
1 अप्रैल
2021
शनिवार 03:10 PM2 अप्रैल
2021
रविवार 04:19 AM
5 अप्रैल
2021
बुधवार 09:19 AM5 अप्रैल
2021
बुधवार 09:45 PM
8 अप्रैल
2021
शनिवार 09:56 PM9 अप्रैल
2021
रविवार 09:35 AM
12 अप्रैल
2021
बुधवार 05:39 AM12 अप्रैल
2021
बुधवार 04:43 PM
15 अप्रैल
2021
शनिवार 09:59 AM15 अप्रैल
2021
शनिवार 08:45 PM
18 अप्रैल
2021
मंगलवार 01:27 PM19 अप्रैल
2021
बुधवार 12:23 AM
23 अप्रैल
2021
रविवार 08:01 PM24 अप्रैल
2021
सोमवार 08:24 AM
27 अप्रैल
2021
गुरूवार 01:38 PM28 अप्रैल
2021
शुक्रवार 02:49 AM
आरम्भ समाप्त
दिनांक दिन समय दिनांक दिन समय
भद्रा ( विष्टि करण ) मई 2021
1 मई
2021
सोमवार 09:22 AM1 मई
2021
सोमवार 10:09 PM
4 मई
2021
गुरूवार 11:44 PM5 मई
2021
शुक्रवार 11:27 AM
8 मई
2021
सोमवार 07:19 AM8 मई
2021
सोमवार 06:18 PM
11 मई
2021
गुरूवार 11:27 AM11 मई
2021
गुरूवार 10:16 PM
14 मई
2021
रविवार 03:43 PM15 मई
2021
सोमवार 02:46 AM
17 मई
2021
बुधवार 10:28 PM18 मई
2021
गुरूवार 10:02 AM
23 मई
2021
मंगलवार 12:04 PM24 मई
2021
बुधवार 12:57 AM
27 मई
2021
शनिवार 07:42 AM27 मई
2021
शनिवार 08:51 PM
1 मई
2021
सोमवार 09:22 AM1 मई
2021
सोमवार 10:09 PM
4 मई
2021
गुरूवार 11:44 PM5 मई
2021
शुक्रवार 11:27 AM
8 मई
2021
सोमवार 07:19 AM8 मई
2021
सोमवार 06:18 PM
11 मई
2021
गुरूवार 11:27 AM11 मई
2021
गुरूवार 10:16 PM
14 मई
2021
रविवार 03:43 PM15 मई
2021
सोमवार 02:46 AM
17 मई
2021
बुधवार 10:28 PM18 मई
2021
गुरूवार 10:02 AM
23 मई
2021
मंगलवार 12:04 PM24 मई
2021
बुधवार 12:57 AM
27 मई
2021
शनिवार 07:42 AM27 मई
2021
शनिवार 08:51 PM
आरम्भ समाप्त
दिनांक दिन समय दिनांक दिन समय
भद्रा ( विष्टि करण ) जून 2021
3 जून
2021
शनिवार 11:16 AM3 जून
2021
शनिवार 10:17 PM
6 जून
2021
मंगलवार 02:20 PM7 जून
2021
बुधवार 12:50 AM
9 जून
2021
शुक्रवार 04:20 PM10 जून
2021
शनिवार 03:08 AM
12 जून
2021
सोमवार 09:58 PM13 जून
2021
मंगलवार 09:28 AM
16 जून
2021
शुक्रवार 08:39 AM16 जून
2021
शुक्रवार 08:52 PM
22 जून
2021
गुरूवार 04:17 AM22 जून
2021
गुरूवार 05:27 PM
26 जून
2021
सोमवार 12:25 AM26 जून
2021
सोमवार 01:19 PM
29 जून
2021
गुरूवार 03:06 PM30 जून
2021
शुक्रवार 02:42 AM
3 जून
2021
शनिवार 11:16 AM3 जून
2021
शनिवार 10:17 PM
6 जून
2021
मंगलवार 02:20 PM7 जून
2021
बुधवार 12:50 AM
9 जून
2021
शुक्रवार 04:20 PM10 जून
2021
शनिवार 03:08 AM
12 जून
2021
सोमवार 09:58 PM13 जून
2021
मंगलवार 09:28 AM
16 जून
2021
शुक्रवार 08:39 AM16 जून
2021
शुक्रवार 08:52 PM
22 जून
2021
गुरूवार 04:17 AM22 जून
2021
गुरूवार 05:27 PM
26 जून
2021
सोमवार 12:25 AM26 जून
2021
सोमवार 01:19 PM
29 जून
2021
गुरूवार 03:06 PM30 जून
2021
शुक्रवार 02:42 AM
आरम्भ समाप्त
दिनांक दिन समय दिनांक दिन समय
भद्रा ( विष्टि करण ) जुलाई 2021
2 जुलाई
2021
रविवार 08:21 PM3 जुलाई
2021
सोमवार 06:47 AM
5 जुलाई
2021
बुधवार 08:15 PM6 जुलाई
2021
गुरूवार 06:30 AM
8 जुलाई
2021
शनिवार 09:51 PM9 जुलाई
2021
रविवार 08:50 AM
12 जुलाई
2021
बुधवार 05:57 AM12 जुलाई
2021
बुधवार 05:59 PM
15 जुलाई
2021
शनिवार 08:32 PM16 जुलाई
2021
रविवार 09:17 AM
21 जुलाई
2021
शुक्रवार 08:12 PM22 जुलाई
2021
शनिवार 09:26 AM
25 जुलाई
2021
मंगलवार 03:08 PM26 जुलाई
2021
बुधवार 03:36 AM
29 जुलाई
2021
शनिवार 02:04 AM29 जुलाई
2021
शनिवार 01:05 PM
2 जुलाई
2021
रविवार 08:21 PM3 जुलाई
2021
सोमवार 06:47 AM
5 जुलाई
2021
बुधवार 08:15 PM6 जुलाई
2021
गुरूवार 06:30 AM
8 जुलाई
2021
शनिवार 09:51 PM9 जुलाई
2021
रविवार 08:50 AM
12 जुलाई
2021
बुधवार 05:57 AM12 जुलाई
2021
बुधवार 05:59 PM
15 जुलाई
2021
शनिवार 08:32 PM16 जुलाई
2021
रविवार 09:17 AM
21 जुलाई
2021
शुक्रवार 08:12 PM22 जुलाई
2021
शनिवार 09:26 AM
25 जुलाई
2021
मंगलवार 03:08 PM26 जुलाई
2021
बुधवार 03:36 AM
29 जुलाई
2021
शनिवार 02:04 AM29 जुलाई
2021
शनिवार 01:05 PM
आरम्भ समाप्त
दिनांक दिन समय दिनांक दिन समय
भद्रा ( विष्टि करण ) अगस्त 2021
1 अगस्त
2021
मंगलवार 03:51 AM1 अगस्त
2021
मंगलवार 01:57 PM
4 अगस्त
2021
शुक्रवार 02:28 AM4 अगस्त
2021
शुक्रवार 12:45 PM
7 अगस्त
2021
सोमवार 05:20 AM7 अगस्त
2021
सोमवार 04:41 PM
10 अगस्त
2021
गुरूवार 04:34 PM11 अगस्त
2021
शुक्रवार 05:06 AM
14 अगस्त
2021
सोमवार 10:25 AM14 अगस्त
2021
सोमवार 11:32 PM
20 अगस्त
2021
रविवार 11:23 AM21 अगस्त
2021
सोमवार 12:21 AM
24 अगस्त
2021
गुरूवार 03:31 AM24 अगस्त
2021
गुरूवार 03:26 PM
27 अगस्त
2021
रविवार 10:55 AM27 अगस्त
2021
रविवार 09:32 PM
30 अगस्त
2021
बुधवार 10:58 AM30 अगस्त
2021
बुधवार 09:01 PM
1 अगस्त
2021
मंगलवार 03:51 AM1 अगस्त
2021
मंगलवार 01:57 PM
4 अगस्त
2021
शुक्रवार 02:28 AM4 अगस्त
2021
शुक्रवार 12:45 PM
7 अगस्त
2021
सोमवार 05:20 AM7 अगस्त
2021
सोमवार 04:41 PM
10 अगस्त
2021
गुरूवार 04:34 PM11 अगस्त
2021
शुक्रवार 05:06 AM
14 अगस्त
2021
सोमवार 10:25 AM14 अगस्त
2021
सोमवार 11:32 PM
20 अगस्त
2021
रविवार 11:23 AM21 अगस्त
2021
सोमवार 12:21 AM
24 अगस्त
2021
गुरूवार 03:31 AM24 अगस्त
2021
गुरूवार 03:26 PM
27 अगस्त
2021
रविवार 10:55 AM27 अगस्त
2021
रविवार 09:32 PM
30 अगस्त
2021
बुधवार 10:58 AM30 अगस्त
2021
बुधवार 09:01 PM
आरम्भ समाप्त
दिनांक दिन समय दिनांक दिन समय
भद्रा ( विष्टि करण ) सितंबर 2021
2 सितंबर
2021
शनिवार 10:15 AM2 सितंबर
2021
शनिवार 08:49 PM
5 सितंबर
2021
मंगलवार 03:46 PM6 सितंबर
2021
बुधवार 03:36 AM
9 सितंबर
2021
शनिवार 06:20 AM9 सितंबर
2021
शनिवार 07:17 PM
13 सितंबर
2021
बुधवार 02:21 AM13 सितंबर
2021
बुधवार 03:35 PM
19 सितंबर
2021
मंगलवार 01:14 AM19 सितंबर
2021
मंगलवार 01:43 PM
22 सितंबर
2021
शुक्रवार 01:35 PM23 सितंबर
2021
शनिवार 01:01 AM
25 सितंबर
2021
सोमवार 06:31 PM26 सितंबर
2021
मंगलवार 05:00 AM
28 सितंबर
2021
गुरूवार 06:49 PM29 सितंबर
2021
शुक्रवार 05:06 AM
2 सितंबर
2021
शनिवार 10:15 AM2 सितंबर
2021
शनिवार 08:49 PM
5 सितंबर
2021
मंगलवार 03:46 PM6 सितंबर
2021
बुधवार 03:36 AM
9 सितंबर
2021
शनिवार 06:20 AM9 सितंबर
2021
शनिवार 07:17 PM
13 सितंबर
2021
बुधवार 02:21 AM13 सितंबर
2021
बुधवार 03:35 PM
19 सितंबर
2021
मंगलवार 01:14 AM19 सितंबर
2021
मंगलवार 01:43 PM
22 सितंबर
2021
शुक्रवार 01:35 PM23 सितंबर
2021
शनिवार 01:01 AM
25 सितंबर
2021
सोमवार 06:31 PM26 सितंबर
2021
मंगलवार 05:00 AM
28 सितंबर
2021
गुरूवार 06:49 PM29 सितंबर
2021
शुक्रवार 05:06 AM
आरम्भ समाप्त
दिनांक दिन समय दिनांक दिन समय
भद्रा ( विष्टि करण ) अक्टूबर 2021
1 अक्टूबर
2021
रविवार 08:34 PM2 अक्टूबर
2021
सोमवार 07:36 AM
5 अक्टूबर
2021
गुरूवार 05:41 AM5 अक्टूबर
2021
गुरूवार 06:02 PM
8 अक्टूबर
2021
रविवार 11:22 PM9 अक्टूबर
2021
सोमवार 12:36 PM
12 अक्टूबर
2021
गुरूवार 07:53 PM13 अक्टूबर
2021
शुक्रवार 08:54 AM
18 अक्टूबर
2021
बुधवार 01:22 PM19 अक्टूबर
2021
गुरूवार 01:12 AM
21 अक्टूबर
2021
शनिवार 09:53 PM22 अक्टूबर
2021
रविवार 08:58 AM
25 अक्टूबर
2021
बुधवार 01:54 AM25 अक्टूबर
2021
बुधवार 12:32 PM
28 अक्टूबर
2021
शनिवार 04:17 AM28 अक्टूबर
2021
शनिवार 03:02 PM
1 अक्टूबर
2021
रविवार 08:34 PM2 अक्टूबर
2021
सोमवार 07:36 AM
5 अक्टूबर
2021
गुरूवार 05:41 AM5 अक्टूबर
2021
गुरूवार 06:02 PM
8 अक्टूबर
2021
रविवार 11:22 PM9 अक्टूबर
2021
सोमवार 12:36 PM
12 अक्टूबर
2021
गुरूवार 07:53 PM13 अक्टूबर
2021
शुक्रवार 08:54 AM
18 अक्टूबर
2021
बुधवार 01:22 PM19 अक्टूबर
2021
गुरूवार 01:12 AM
21 अक्टूबर
2021
शनिवार 09:53 PM22 अक्टूबर
2021
रविवार 08:58 AM
25 अक्टूबर
2021
बुधवार 01:54 AM25 अक्टूबर
2021
बुधवार 12:32 PM
28 अक्टूबर
2021
शनिवार 04:17 AM28 अक्टूबर
2021
शनिवार 03:02 PM
आरम्भ समाप्त
दिनांक दिन समय दिनांक दिन समय
भद्रा ( विष्टि करण ) नवंबर 2021
3 नवंबर
2021
शुक्रवार 11:07 PM4 नवंबर
2021
शनिवार 11:59 AM
7 नवंबर
2021
मंगलवार 07:07 PM8 नवंबर
2021
बुधवार 08:23 AM
11 नवंबर
2021
शनिवार 01:57 PM12 नवंबर
2021
रविवार 02:25 AM
16 नवंबर
2021
गुरूवार 11:51 PM17 नवंबर
2021
शुक्रवार 11:03 AM
20 नवंबर
2021
सोमवार 05:21 AM20 नवंबर
2021
सोमवार 04:19 PM
23 नवंबर
2021
गुरूवार 10:02 AM23 नवंबर
2021
गुरूवार 09:01 PM
26 नवंबर
2021
रविवार 03:53 PM27 नवंबर
2021
सोमवार 03:16 AM
3 नवंबर
2021
शुक्रवार 11:07 PM4 नवंबर
2021
शनिवार 11:59 AM
7 नवंबर
2021
मंगलवार 07:07 PM8 नवंबर
2021
बुधवार 08:23 AM
11 नवंबर
2021
शनिवार 01:57 PM12 नवंबर
2021
रविवार 02:25 AM
16 नवंबर
2021
गुरूवार 11:51 PM17 नवंबर
2021
शुक्रवार 11:03 AM
20 नवंबर
2021
सोमवार 05:21 AM20 नवंबर
2021
सोमवार 04:19 PM
23 नवंबर
2021
गुरूवार 10:02 AM23 नवंबर
2021
गुरूवार 09:01 PM
26 नवंबर
2021
रविवार 03:53 PM27 नवंबर
2021
सोमवार 03:16 AM
आरम्भ समाप्त
दिनांक दिन समय दिनांक दिन समय
भद्रा ( विष्टि करण ) दिसंबर 2021
3 दिसंबर
2021
रविवार 07:27 PM4 दिसंबर
2021
सोमवार 08:41 AM
7 दिसंबर
2021
गुरूवार 04:09 PM8 दिसंबर
2021
शुक्रवार 05:06 AM
11 दिसंबर
2021
सोमवार 07:10 AM11 दिसंबर
2021
सोमवार 06:52 PM
16 दिसंबर
2021
शनिवार 09:15 AM16 दिसंबर
2021
शनिवार 08:00 PM
19 दिसंबर
2021
मंगलवार 01:06 PM20 दिसंबर
2021
बुधवार 12:08 AM
22 दिसंबर
2021
शुक्रवार 07:42 PM23 दिसंबर
2021
शनिवार 07:11 AM
26 दिसंबर
2021
मंगलवार 05:46 AM26 दिसंबर
2021
मंगलवार 05:51 PM
29 दिसंबर
2021
शुक्रवार 08:47 PM30 दिसंबर
2021
शनिवार 09:43 AM
3 दिसंबर
2021
रविवार 07:27 PM4 दिसंबर
2021
सोमवार 08:41 AM
7 दिसंबर
2021
गुरूवार 04:09 PM8 दिसंबर
2021
शुक्रवार 05:06 AM
11 दिसंबर
2021
सोमवार 07:10 AM11 दिसंबर
2021
सोमवार 06:52 PM
16 दिसंबर
2021
शनिवार 09:15 AM16 दिसंबर
2021
शनिवार 08:00 PM
19 दिसंबर
2021
मंगलवार 01:06 PM20 दिसंबर
2021
बुधवार 12:08 AM
22 दिसंबर
2021
शुक्रवार 07:42 PM23 दिसंबर
2021
शनिवार 07:11 AM
26 दिसंबर
2021
मंगलवार 05:46 AM26 दिसंबर
2021
मंगलवार 05:51 PM
29 दिसंबर
2021
शुक्रवार 08:47 PM30 दिसंबर
2021
शनिवार 09:43 AM

भद्रा क्या होती है

शास्त्रों के अनुसार धरती लोक की भद्रा सबसे अधिक अशुभ मानी जाती है। तिथि के पूर्वार्द्ध की दिन की भद्रा कहलाती है और तिथि के उत्तरार्द्धा की भद्रा को रात की भद्रा कहते है। यदि दिन की भद्रा रात के समय और रात्रि की भद्रा दिन के समय आ जाए तो भद्रा को शुभ मानते हैं। भद्रा हर समय तीनों लोकों में विचरण करती रहती हैं। जब इनका वास स्वर्ग लोक और पाताल लोक में रहता है तो यह वहां के लोगों के लिए कष्ट कारक प्रभाव देती हैं किंतु पृथ्वी वासियों के लिए शुभदायी रहती हैं। वहीं जब इनका वास पृथ्वी पर रहता है तो पृथ्वी वासियों के लिए अशुभ रहता है ।

पंचांग का महत्वपूर्ण अंग है भद्रा

हिंदू पंचांग के पांच प्रमुख अंग होते हैं- तिथि, वार, योग, नक्षत्र और करण। इनमें करण एक प्रमुख अंग है। यह तिथि का आधा भाग होता है। करण की संख्या 11 होती है जिसमें से सातवें करण को विष्टि कहते हैं। विष्टि का नाम ही भद्रा है, यह सदैव गतिशील होती है। पंचांग शुद्धि में भद्रा का खास महत्व होता है ।

भद्रा का महत्व

भद्रा में शुभ कार्य निषेध बताए गए हैं। ज्योतिष के अनुसार अलग अलग राशियों के अनुसार भद्रा तीनों लोकों में घूमती है। जब यह मृत्युलोक में होती है, तब सभी कार्यों में बाधक या उनका नाश करने वाली मानी गई है। जब चंद्रमा, कर्क, सिंह, कुंभ और मीन राशि में विचरण करता है और भद्रा करण का योग होता है तब भद्रा पृथ्वीलोक में रहती है ।

भद्रा का दूसरा नाम विष्टि करण है। कृष्णपक्ष की तृतीया, दशमी और शुक्ल पक्ष की चतुर्थी, एकादशी के उत्तरार्ध व कृष्ण पक्ष की सप्तमी- चतुर्दशी, शुक्लपक्ष की अष्टमी- पूर्णमासी के पूर्वर्द्धा में भद्रा रहती है। जिस भद्रा के समय चंद्रमा मेष, वृषभ, मिथुन, वृश्चिक राशि में स्थित होता है तो भद्रा स्वर्ग में निवास करती है। यदि चंद्रमा कन्या, तुला, धनु, मकर राशि में हो तो भद्रा पाताल में निवास करती है और कर्क, सिंह, कुंभ राशि का चंद्रमा हो तो भद्रा भूलोक में निवास करती है ।

शास्त्रों के अनुसार धरती लोक की भद्रा सबसे अधिक अशुभ मानी जाती है।यदि भद्रा के समय कोई अति आवश्यक कार्य करना हो तो भद्रा की प्रारंभ की 5 घटी जो भद्रा का मुख होती है, अवश्य त्याग देना चाहिए।

जानिये भद्रा के 4 प्रमुख दोष

भद्रा 5 घटी मुख में, 2 घटी कंठ में, 11 घटी हृदय में और 4 घटी पुच्छ में रहती है ।

जब भद्रा मुख में रहती है, तो कार्य का नाश होता है।

जब भद्रा कंठ में रहती है, तो धन का नाश होता है।

जब भद्रा हृदय में रहती है, तो स्वास्थ्य और प्राण का नाश होता है।

जब भद्रा पुच्छ में होती है, तो विजय की प्राप्ति व कार्य सिद्ध होते हैं।

भद्रा के बारह नाम

धान्या, दधि मुखी, भद्रा, महामारी, खरानना, कालरात्रि, महारुद्रा, विष्टिकरण, कुलपुत्रिका, भैरवी, महाकाली, असुरक्षयकारी हैं ।

भद्रा में वर्जित कार्य

भद्रा में कई कार्यों को वर्जित माना गया है जैसे- मुंडन संस्कार, गृह प्रवेश, विवाह संस्कार, रक्षा बंधन, शुभ यात्रा, नया व्यवसाय आरंभ करना और सभी प्रकार के मांगलिक कार्य भद्रा में वर्जित माने गये हैं। शास्त्रों के अनुसार भद्रा में किए गए शुभ काम भी अशुभ होते हैं ।

भद्रा में किए जाने वाले कार्य

भद्रा में कई कार्य ऐसे भी हैं जिन्हें किया जा सकता है, जैसे- अग्नि कार्य, युद्ध करना, किसी को कैद करना, विषादि का प्रयोग, विवाद संबंधी काम, शस्त्रों का उपयोग, पशु संबंधी कार्य, मुकदमा आरंभ करना या मुकदमे संबंधी कार्य, शत्रु दमन करना आदि कार्य भद्रा में किए जा सकते हैं ।

भद्रा दोष निवारण के उपाय

जिस दिन भद्रा हो और अति आवश्यक परिस्थितिवश कोई शुभ कार्य करना ही पड़े तो उस दिन उपवास करना चाहिए।भद्रा के दुष्प्रभावों से बचने के लिए मनुष्य को प्रातः उठकर भद्रा के बारह नामों का स्मरण करना चाहिए। विधिपूर्वक पूजन करना चाहिए और भद्रा के बारह नामों का स्मरण करने वालों को भद्रा कभी परेशान नहीं करतीं हैं। ऐसे भक्तों के कार्यों में कभी विघ्न नहीं पड़ता है।

धन्या दधिमुखी भद्रा महामारी खरानान। कालरात्रिर्महारुद्रा विष्टिस्च कुल पुत्रिका।।

भैरवी च महाकाली असुराणां क्षयंकारी। द्वादशैव तु नामानि प्रातरुत्थाय यः पठेत्।।