Birthastro Menu

Blog

सोमवार के दिन जरूर करें तिल और चावल का दान, भोलेनाथ भर देंगे आपकी झोली

Nov 05, 2022
  • Birthastro

सोमवार के दिन जरूर करें तिल और चावल का दान, भोलेनाथ भर देंगे आपकी झोली


भगवान भोलेनाथ बहुत ही भोले हैं, भगवान शिव की छोटी से छोटी पूजा पाठ से मनचाहे वरदान की प्राप्ति होती है। सोमवार के दिन भगवान शिव की पूजा का विधान है क्योंकि कहा जाता है कि हिंदू धर्म में भगवान शिव ही एक मात्र ऐसे देवता हैं, जो बहुत ही जल्द प्रसन्न हो जाते हैं। भोलेनाथ को दयालु और कृपालु कहा जाता है। वह सिर्फ एक लोटा जल से भी प्रसन्न हो जाते हैं और भक्तों को मनवांछित वरदान देते हैं।


सोमवार के दिन भगवान शिव के साथ साथ माता पार्वती की पूजा का भी विधान है। कई लोग सोमवार का व्रत खास मनोकामना पूर्ति के लिए रखते हैं तथा खास उपायों से भोलेनाथ की कृपा पाते हैं। कहा जाता है कि ज्योतिष शास्त्र में बताए उपायों को करने से व्यक्ति को कष्टों से मुक्ति मिलती है तथासुख-समृद्धि की प्राप्ति होती है।


सोमवार को जरूर करें ये उपाय

मंत्रों का करें जाप

सोमवार का दिन भोलेनाथ का होता है। भगवान शिव की पूजा पाठ करने से सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। आज के दिन शिव मंत्र का जाप अवश्य करना चाहिए, जिसका विशेष महत्व है। भगवान भोलेनाथ को प्रसन्न करने के लिए ऊं नमः शिवाय मंत्र का कम से कम 108 बार जाप करें।

शिव स्त्रोत का पाठ

भगवान शिव के स्त्रोत पाठ का विशेष महत्व होता है और सोमवार के दिन पाठ करने का इसका महत्व बहुत अधिक बढ़ जाता है। कहते हैं कि शिव स्त्रोत का पाठ नियमित रूप से करने पर हर रोग दोष डर से निजात मिलती है।

चंदन का तिलक लगाएं

भगवान शिव को चंदन बेहद प्रिय होता है, ऐसे में भोलेनाथ को चंदन से तिलक जरूर करें। शिव शंभु अपने भक्तों से बहुत खुश होते हैं और भगवान की कृपा प्राप्त होती है।

दूध से करें अभिषेक

सोमवार को भगवान शिवा का दूध से अभिषेक करें। जिससे भगवान शिव प्रसन्न होकर भक्तों की सभी इच्छाएं पूर्ण करते हैं। दूध से अभिषेक करने के बाद भोलेनाथ को बेलपत्र, धतूरा आदि अर्पित करें।

इन चीजों का करें दान

पितृ दोष के प्रभाव को कम करने के लिए भगवान शिव की पूजा करते हैं। साथ ही सोमवार के दिन कच्चे चाव और काले तिल मिलाकर दान कर दें। ऐसा करने से पितृ दोष से मुक्ति मिलेगी और जीवन में सुख समृद्धि की प्राप्ति होती है।


Leave A Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *